Mahendra Gautam BSP Leader

Image may contain: 7 people, textImage may contain: 2 people, people standing and textImage may contain: textImage may contain: textImage may contain: text5x4 = 20ये दो तस्वीरें मैं आपके सामने रख रहा सफेद चादर में लिपटा देश का गन्ना किसान उदयवीर जो सरकार से अपने गन्ने का पैसा मांग रहा था। दूसरी तस्वीर में देश का सबसे ताकतवर फकीर जो अभी आधे बने हाईवे का जश्न मना रहा है। ये दो तस्वीरों से आप हकीकत और दिखावे में भेद समझ सकते है5x4 = 20IMG-20171023-WA0009IMG-20171023-WA000931206378_233779354025239_5078671511804444672_n5x4)

Mahendra Gautam

बहुजन समाज पार्टी के राजस्थान प्रदेश के प्रभारी श्री जयप्रकाश सिंह जी को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय मंडल कोर्डीनेटर बनाएँ जानें पर बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ

जो लोग #BSP पर परिवारवाद का आरोप लगाते थे उन्हें #बहनजी ने दिया करारा जवाब , BSP एक पलिटिकल पार्टी होने के साथ साथ बाबा साहेब , मान्यवर कांशीराम जी का मिशन है , और समस्त दलित समाज बहनजी के साथ तन मन धन से उन्हें देश का प्रधानमंत्री बना हुआ देखना चाहता है

 Mahendra Gautam BSP Leader फेसबुक से पर्दाफाश करते हैं:
मानो सामूहिक सम्मोहन किया गया हो. आज सुबह एक शो किया अपने चैनल पर जिसमे भारतीय रेल का पर्दाफाश किया था. मुद्दा ये था कि जो खाना आप खाते हैं, उसमे शौच के पानी का इस्तेमाल हो रहा है और ये पहली बार नहीं, खुद मैंने इसका expose कुछ दिनों पहले किया था जिसमे शौच के पानी से लोगों को चाय कॉफी पिलायी जा रही थी. जब इसका प्रसारण हुआ तब कई ऐसे लोग सामने आए जो इसमे भी सरकार की तरफदारी करते दिखे. मैंने यही मुद्दा उठाया कि जो लोग आपके खाने मे शौच मिला रहे हैं, क्या उन्हे सिर्फ फाइन करके छोड़ा जा सकता है? क्या उनपर पाबंदी नहीं लगायी जानी चाहिए? और ऐसे मे सरकार का रवैय्या इतना ढीला क्यों है?

10x4
 WP_20180316_007 (3)_LI

आप विश्वास नहीं करेंगे कि कुछ लोग इस मुद्दे पर भी रेलवे मंत्रालय के पक्ष मे दिखाई दिए. आप कुछ लोगों के tweets पढ़ सकते हैं. ध्यान से देखिए इन्हें. विश्वास नहीं होगा. उनका मानना था कि इससे ज़्यादा और क्या किया जा सकता है. ये भी कि आर्थिक दंड तो बगैर टिकिट की यात्रा के लिए भी होता है और इसके लिए भी सिर्फ यही होना चाहिए.

सरकार ने अच्छा किया. यानी कि वही शौच परोसने वाले कांट्रेक्टर हमारे बीच फिर एक्टिव हो गए हैं, न जाने अब क्या परोसेगे, उन्हे इस बात की कोई चिंता नहीं है. मल मूत्र खा लेंगे मगर मोदी सरकार की आलोचना बर्दाश्त नहीं करेंगे. कुछ लोगों ने तो सीधा ठीकरा जनता पर फोड़ डाला कि ये जनता अपने गिरेबां मे झांक कर देखे. इसकी ज़िम्मेदारी रेल्वे मंत्रालय की नहीं हो सकती. यानी कि ट्रेन लेट हो, एक्सिडेंट होते रहें, खाने मे शौच परोसा जाते रहे, मगर मोदी सरकार से कोई सवाल नहीं! हम “गू” खा लेंगे, मगर ये सरकार कुछ गलत नहीं कर सकती. क्या लोगों के ज़हन मे इस कदर सियासी गू भर दी गयी है? कि हम सवाल ही नहीं करेंगे और जो करेगा उसे ना सिर्फ खामोश करेंगे बल्कि उसके खिलाफ हर किस्म का झूठा और घटिया प्रोपोगंडा चलाएंगे?1

क्या सत्तासीन लोगों को आभास है कि घृणा और नफरत की सियासत ने हमें किस मोड़ पर ला दिया है?

कठुआ और उन्नाव मे रेप पर हम आरोपी के पक्ष मे खड़े हो जाते हैं. ऐसा पहले होता देखा है कभी? न सिर्फ उसके पक्ष मे बल्कि बीजेपी नेताओं की शर्मनाक हरकत को जायज़ ठहराने का ज़रिया ढूंढते हैं? पोस्टमोर्टेम रिपोर्ट को गलत ढंग से पेश किया जाता है? सच सामने आए. ज़रूर आए. मगर झूठ का सहारा क्यों? उन्नाव मे गैंग रेप मे विधायक के पक्ष मे जिस तरह योगी सरकार ने सार्वजानिक तौर पर और अदालत के सामने अपनी नाक कटवाई है, ये तो अप्रत्याशित है! ऐसा कब हुआ है जब सरकार रेपिस्ट के साथ खड़ी दिखाई देती है? और जनता मे इस बात का कोई आक्रोश नहीं? और ये सब नफरत के चलते? माफ कीजिए ये भक्ति नहीं है. ये एक श्राप है. एक ऐसा काला श्राप जो आपको आने वाले वक़्त मे भुगतना होगा. जब आपने नाकाम सरकार से सवाल करना बंद कर दिया था.

हिंदी की बड़ी लेखिका ने ऐसा क्यों कहा… 

मुझे ताज्जुब नहीं के लोग खाने मे शौच बर्दाश्त कर सकते हैं, धर्म के नाम पर खुला खेल खेल रही सरकार से सवाल नहीं कर सकते! क्योंकि यही शौच पिछले कुछ अर्से से उन्हे हर जगह परोसा जा रहा है. टीवी चैनलों पर खबरों के नाम पर घृणा और दोहराव पैदा करना, लोगों के खिलाफ, धर्म विशेष के खिलाफ माहौल बनाना. दंगा तक भड़काने से परहेज़ ना रखना और जो समझदारी की बात करे, उसे खामोश कर देना. सूचना प्रसारण मंत्रालय से अदृश्य फरमान जारी करके लोगों की ज़ुबान पर अंकुश लगाना? तो जब नफरत परोसी जाएगी तो दिमाग मे तो गोबर ही तो भरेगा ना? तब लोगों को शौच युक्त खाना खाने मे क्या दिक्कत होगी, जब आए दिन उन्हे news चैनल के ज़रिए यही परोसा जा रहा हो, जब चुनावी मंचों पर श्मशान, कब्रिस्तान जैसी बातें की जाती हो! जब देश के प्रधानमंत्री विदेश जाकर कहते हों कि रेप पर सियासत नहीं होनी चाहिए और कुछ दिनों बाद यानी एक हफ्ते के अंदर उसे भूल कर, कर्नाटक की सियासी भूमि मे उसी बात का गला घोंट देते हों?

बीजेपी को@MahendraG29BSP ने दिया जवाब- मेरी मां इटली की है लेकिन देश के लिए बलिदान दिया है. वैसे एक बात देखो हमारे PM साहब देश के है फिर भी विदेश में अधिक पाए जाते है और सोनिया गांधी विदेशी फिर भी देश में अधिक पाई जाती है ✅

कर्नाटक के बीदर विधान सभा में विशाल कार बाइक रैली का आयोजन किया गया इस अवसर पर हजारों की संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं ने उत्साह के साथ भाग लिया रैली का नेतृत्व मान्यवर गौरी प्रसाद उपासक जी प्रभारी आनधॅ प्रदेश तेलंगाना प्रदेश व कर्नाटक बी एस पी व विधान सभा उम्मीदवार मा एम मुनियपपा जी ने कियाImage may contain: one or more people, sky and outdoor

10 मई 1857 की क्रांति के जनक शहीद  को शत शत नमन Mahendra Gautam

सहारनपुर भीम आर्मी जिलाध्यक्ष के छोटे भाई सचिन वालिया की गोली मार कर हत्या की घोर निंदा करता हूँ पूरी तरह इसके लिए  जिम्मेदार है मेरा सभी साथियों से अनुरोध है शांति बनाए रखे ये समय धैर्य पूर्वक बुध्दिमत्ता से कदम उठाने का है। सचिन के परिवार के साथ मेरी संवेदना

है

Purve vidhan sabha adhyaksh didarganj azamgarh at Bahujan Samaj Party – BSP Mahendra Gautamyour profile photo, Image may contain: 3 people, including Mahendra Gautamआदरणीय प्रधानमंत्री जी 15 मिनट छोडो, मोदी जी सिर्फ 5 सेकेण्ड के सवाल का जवाब दें!! अखिर नोटबंदी से कालाधन और आतंकवाद खत्म क्यों नही हुआ??

मान्यवर गौरी प्रसाद उपासक जी प्रभारी आनधॅ प्रदेश तेलंगाना प्रदेश व कर्नाटक बी एस पी, कर्नाटक के बीदर विधान सभा में सी एम सी कालोनी में चुनावी जन सभा को संबोधित करते हुएImage may contain: 2 people, including Gauri Prasad Upasak, people sitting and people standing

छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी/नेता विधानमण्डल दल बसपा/जोन इंचार्ज बसपा और सबके नेता माननीय श्री लालजी वर्मा जी छत्तीसगढ़ प्रदेश के रायपुर (सतनामी धर्मशाला) हाल में प्रदेश स्तर के पदाधिकारियो की मीटिंग में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी एवं प्रदेश स्तर के संगठन की समीक्षा कर सभी प्रदेश स्तर के पदाधिकारी को चुनावी टिप्स देने का काम किया..जिससे प्रदेश में बीएसपी मजबूत पार्टी बनके उभरे । ज्ञात रहे कि हाल में ही प्रदेश में विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है .और पांच वर्ष पूर्व भी विधानसभा चुनाव में माननीया बहन कुमारी मायावती जी माननीय श्री लालजी वर्मा जी को प्रभारी बनाया था और रिजल्ट बढ़िया आया था…. जिससे एक बार पुनः बहन जी ने नेता विधानमंडल दल माननीय श्री लालजी वर्मा जी को फिर से बागडोर उनके हाथों में सौंपा हैImage may contain: 2 people, people standing and indoor

Mahendra Gautam BSP Leader

@MahendraG29BSPMahendra Gautam BSP Leader

 May 7

2019 चुनाव : मायावती ने कहा कि गठबंधन तो हो चुका है, सीट बंटवारे के बाद … via 

उदित राज रामशंकर कठेरिया रामविलास पासवान कौशल किशोर प्रियंका रावत रामदास आठवले लालजी निर्मल रमापति शास्त्री मलाई खाने में मस्त हैं इनके बारे में कब सोचेंगे।

देरी से चल रही ट्रेनों पर मनोज सिन्हा ने अपना पल्ला झाड़ा, बोले पिछली सरकारें जिम्मेदार

ट्रेन के देर से छूटने पर मंत्री मनोज सिन्हा ने सफाई भी दी और कहा कि इन दिनों देरी से चल रही ट्रेनों के लिए पिछली सरकारें ज़िम्मेदार हैं. हालांकि उन्होंने दावा किया कि जल्द ही सभी ट्रेनें अपने निर्धारित समय से चलेंगी और मुसाफिरों की समस्याएं दूर हो जाएंगी.

previous governments are responsible for train delay issue: manoj sinha in allahabad

इलाहाबाद: कुंभ मेले से ठीक पहले संगम के शहर इलाहाबाद को नई ट्रेन का तोहफा मिला है. रेलवे ने इलाहाबाद से नई दिल्ली के लिए नई हमसफ़र एक्सप्रेस ट्रेन की शुरुआत की है. एसी कोचों वाली इस ट्रेन का उदघाटन बुधवार को इलाहाबाद में रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने किया. हालांकि पहले ही दिन यह ट्रेन तकरीबन आठ मिनट की देरी से छूटी.
ट्रेन के देर से छूटने पर मंत्री मनोज सिन्हा ने सफाई भी दी और कहा कि इन दिनों देरी से चल रही ट्रेनों के लिए पिछली सरकारें ज़िम्मेदार हैं. हालांकि उन्होंने दावा किया कि जल्द ही सभी ट्रेनें अपने निर्धारित समय से चलेंगी और मुसाफिरों की समस्याएं दूर हो जाएंगी.
रेल राज्यमंत्री के कार्यक्रम में भिड़े सपा-बीजेपी के कार्यकर्ता, पहले ही दिन लेट हुई हमसफर एक्सप्रेस
हमसफ़र एक्सप्रेस हफ्ते में तीन दिन इलाहाबाद से चलेगी. यह ट्रेन कई नई तकनीकों से लैस हैं. पहले दिन ट्रेन से सफर करने वालों में काफी उत्साह दिखाई दिया. पहले दिन यह ट्रेन स्पेशल के रूप में चली, जिसे मंत्री मनोज सिन्हा व दूसरे मेहमानों ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

रेल मंत्री मनोज सिन्हा ने इस मौके पर कुंभ को लेकर रेलवे की तैयारियों के बारे में विस्तार से बताया. उन्होंने बताया कि रेल विभाग कुंभ मेले के लिए एक हजार से ज़्यादा स्पेशल ट्रेन चलाएगा. इस बार रेलवे ऐसे इंतजाम करेगा, जिसमे पिछली बार जैसी भगदड़ नहीं हो सकेगी.
कुंभ 2019 के लिए 1000 से अधिक स्पेशल ट्रेनें चलाएगी इंडियन रेलवे: मनोज सिन्हा
रेल मंत्री के मुताबिक़ कुंभ मेले के लिए रेलवे ज़ोरदार तैयारियां कर रहा है. इसमें इलाहाबाद के साथ ही कई दूसरे स्टेशनों को भी विकसित किया जा रहा है. मेले में इस बार एक हजार से ज़्यादा स्पेशल ट्रेन चलाई जाएंगी. इतना ही नहीं कुंभ से जुड़े सारे काम अक्टूबर तक पूरे कर लिए जाएंगे.
कुंभ में यात्रियों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने के लिए कई ज़रूरी कदम उठाए जा रहे हैं. रेल मंत्रालय खुद ही सारे मामलों की मानीटरिंग कर रहा है. इस बार ऐसे इंतजाम किए जा रहे हैं जिससे कुंभ में आने वाले यात्रियों को मेले का भव्य व अद्भुत अनुभव हो सकेगा.

Advertisements